फोन आया, फोन आया, बैंक वालो का फोन आया

गुरुवार, फ़रवरी 26, 2015

कल आफीस मे बैठा काम कर रहा था, ज्यादा काम नही था, थोड़ा बोर हो रहा था। इतने मे फोन की घंटी बजी, दूसरी ओर से एक मधूर आवाज आयी।

"सर हम लेना-देना बैंक से बोल रहे है। क्या आप हमे दो मिनट का समय दे सकते है?"

हम समझ गये कि ये महोदया या तो हमे लोन देगी या क्रेडिट कार्ड। दोनो की हमे आवश्यकता तो नही है लेकिन बोर हो ही रहे थे, बतियाने मे कोई हर्ज नही था।

"दो मिनट, अजी आप पूरा घंटा लीजिये, हमे कोई परेशानी नही है जी!"

वो थोड़ा हड़बड़ा गयी "ह्म्म म म, सर आपके लिये हमारे लिये एक अच्छी आफर है। हम आपको अत्यंत कम दरो पर पर्सनल लोन दे सकते है।"

"जी, जी, आपने सही समय पर फोन किया, आप हमे लोन दे सकती है जी। 15 लाख मिलने की आशा थी ओ तो मिले नही, बस आप ही बेड़ा पार करवा सकती है।"

"ठीक है सर, आप को कितना लोन चाहिये ?"

"आप कितना दे सकती है जी?"

"सर , वो तो आपके प्रोफ़ाईल को जानने के बाद ही बता सकते है।"

"ठीक है जी, आप पुछीये जी"

"सर आप किस कंपनी मे काम करते है?"

"मेरी कंपनी ? मेरी कंपनी बहुत बड़ी है जी, उसको लोन नही चाहिये जी, लोन मुझे चाहिये।"

"सर आप गलत समझे, लोन आपको ही देंगे, लेकिन उसके लिये आपकी कंपनी की जानकारी चाहिये।"

"मैडम जी, जब लोन मुझे चाहिये, तो आपको मेरी कंपनी की जानकारी क्यों चाहिये ?"

"सर,हमारा बैंक  आपके लोन की राशी आपकी कंपनी के आधार पर तय करेगा।"

"लेकिन मैडम जी, मेरी कंपनी बहुत बड़ी है जी, उसको लोन नही चाहिये, लोन मुझे चाहिये, आप मेरी कंपनी के बारे मे क्यों पुछ रही है?"

"सर आप को लोन देने के बाद आप उसे वापिस कैसे करेंगे, वह जानने के लिये आपकी कंपनी की जानकारी चाहिये।"

"लेकिन मैडम जी, लोन तो मुझे मिलेगा ना, वापिस मै करुंगा, आपको मेरी कंपनी से कुछ लेना देना नही है ना।"

"सर लेकिन बैंक आपको लोन देने के लिये जानना आवश्यक है कि आप उसे वापस कैसे करेंगे ?"

"मैडम जी, पहले आप लोन तो दे दो, वापस करने की बाद मे बात कर लेंगे।"

"सर आप समझ नही रहे है।"

"मैडम जी, आप समझा दिजिये ना।"

"सर मै एक काम करती हुं , आप अपनी कंपनी का पता दिजीये, बैंक का एजेंट आपसे मिलने आयेगा, वो आपको सब समझा देगा।"

"मैडम, आप नही आयेंगी ?"

"धड़ाक!"

मैडम जी ने गुस्से से फोन पटक दिया! अब आप ही बताओं कि हमने क्या गलत कहा था?

मेरे बारे मे

मेरा फोटो
आशीष श्रीवास्तव
सूचना प्रौद्योगिकी मे 14 वर्षो से कार्यरत। विज्ञान पर शौकीया लेखन : विज्ञान आधारित ब्लाग विज्ञान विश्व तथा खगोल शास्त्र को समर्पित अंतरिक्ष । एक संशयवादी(Skeptic)व्यक्तित्व!
मेरा पूरा प्रोफ़ाइल देखें

इस चिठ्ठे के बारे मे

बस युं ही जो मन मे आये इस चिठ्ठे मे छपेगा!

  © Hindigram Khalipili by Hindigram 2011

Back to TOP